NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

ओलंपिक ‘प्लेबुक’ का तीसरा संस्करण आने से पहले पहुंचे जॉन कोट्स जापान

1 min read
Spread the love


टोक्यो ओलिंपिक का आयोजन 23 जुलाई से 8 अगस्त तक होना है (AFP)

कोट्स टोक्यो ओलंपिक के लिए आईओसी के प्रभारी अधिकारी हैं. जापान में वह काफी विवादित हैं, क्योंकि उन्होंने कहा था कि देश में आपात काल होने पर भी स्थगित किए गए ओलंपिक खेल होकर रहेंगे.

टोक्यो. अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष जॉन कोट्स ओलंपिक ‘प्लेबुक’ का तीसरा और आखिरी संस्करण आने से ठीक पहले टोक्यो पहुंच गए हैं. कोट्स टोक्यो ओलंपिक के लिए आईओसी के प्रभारी अधिकारी हैं. जापान में वह काफी विवादित हैं, क्योंकि उन्होंने कहा था कि देश में आपात काल होने पर भी स्थगित किए गए ओलंपिक खेल होकर रहेंगे. आयोजकों ने ऑस्ट्रेलिया से कोट्स के यहां पहुंचने की पुष्टि की. वह तीन दिन पृथकवास में रहे. जापान में 20 जून तक आपातकाल की घोषणा की गई है और अब कोरोना संक्रमण दर में कमी के साथ टीकाकरण की रफ्तार तेज हुई है.

अभी तक पांच प्रतिशत से भी कम जापानियों को टीके लगे हैं. आईओसी का कहना है कि ओलंपिक खेलगांव में रहने वाले 80 प्रतिशत से अधिक को टीके लगेंगे, लेकिन यह नहीं बताया कि यह होगा कैसे. जापान के चिकित्सा समुदाय ने जोखिम का हवाला देकर ओलंपिक के आयोजन का विरोध किया है. सरकार के मुख्य चिकित्सा सलाहकार डाक्टर शिगेरू ओमि का कहना है कि महामारी के बीच ओलंपिक कराना असामान्य है.

ओलंपिक प्लेबुक में खिलाड़ियों और अधिकारियों के लिए कोरोना संबंधी दिशा निर्देश हैं. इसका दूसरा संस्करण अप्रैल में आया था और तीसरे में भी कोई खास बदलाव की उम्मीद नहीं है. इसमें खिलाड़ियों से लेकर मीडया, प्रसारकों और सहयोगी स्टाफ के लिए विस्तार से दिशा निर्देश होंगे.

जापान के प्रधानमंत्री को जी-7 के नेताओं से मिला ओलंपिक आयोजन का समर्थनजापानी प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा ने कहा कि अगले महीने टोक्यो ओलंपिक की मेजबानी के उनके दृढ़ संकल्प को जी-7 समूह के नेताओं ने फिर से समर्थन दिया है. सुगा ने जी -7 शिखर सम्मेलन के दौरान ब्रिटेन में संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने अन्य नेताओं को जापान के वायरस नियंत्रण उपायों को सुनिश्चित करने की प्रतिबद्धता के बारे में बताया जिससे इन खेलों का आयोजन सुरक्षित तरीके से होगा. सुगा ने ब्रिटेन से टोक्यो की उड़ान भरने से पहले कहा, ‘‘मैं सभी नेताओं से मिले दृढ़ समर्थन से आश्वस्त महसूस कर रहा हूं.’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं टोक्यो खेलों को किसी भी कीमत पर सफल बनाने के लिए अपने दृढ़ संकल्प को फिर से दोहरता हूं.’’ ओलंपिक के शुरू होने में लगभग 40 दिनों बचे है लेकिन टोक्यो और जापान के कुछ अन्य बड़े शहरों में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने और चिकित्सा प्रणाली पर दबाव कम करने के मकसद से आपातकाल लगाया गया है.

जापान में टीकाकरण की रफ्तार काफी धीमी है और वहां अब तक लगभग पांच प्रतिशत आबादी को ही टीका लगा है. सुगा को टोक्यो के साथ दूसरे प्रांतों में 20 जून तक लागू आपातकाल के लागू रहने या हटाए जाने पर भी फैसला करना है. जापान में कोविड-19 के 7,74,000 मामले दर्ज हुए है जिसमें से लगभग 14,000 लोगों की मौत हुई है. पिछले साल महामारी के कारण स्थगित हुए टोक्यो खेलों का आगाज 23 जुलाई से होना है, जिसके लिए बड़ी संख्या में विदेशी खिलाड़ी और खेल से जुड़े लोग जापान आएंगे. विदेशी प्रशंसको के जापान आने पर हालांकि रोक लगा दी गई है.







#ओलपक #पलबक #क #तसर #ससकरण #आन #स #पहल #पहच #जन #कटस #जपन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *