September 26, 2021

NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

’काश’ फिल्म की कहानी सुनते ही विनोद खन्ना ने काम करने से कर दिया था इनकार – News18 Hindi

1 min read
Spread the love

प्रसिद्ध निर्माता-निर्देशक महेश भट्ट (Mahesh Bhatt) के निर्देशन में बनी फिल्म ‘काश’ (Kaash) 4 सितंबर 1987 में रिलीज हुई थी. इस फिल्म के बारे में कहते हैं कि महेश ने फिल्म की कहानी सुपरस्टार राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) के जिंदगी की कहानी है. जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff)  और डिंपल कपाड़िया (Dimple Kapadia) ने लीड रोल प्ले किया था. हालांकि जैकी ने अपनी जबरदस्त एक्टिंग से फिल्म को हिट करवाया था लेकिन महेश अपनी इस फिल्म में लीड रोल के लिए विनोद खन्ना (Vinod Khanna) को लेना चाहते थे, लेकिन जैसे ही विनोद ने इस फिल्म की कहानी सुनी उन्होंने फिल्म में काम करने से ही मना कर दिया.

जैकी श्रॉफ की जगह विनोद खन्ना को लेना चाहते थे महेश
इमोशनल ड्रामा पर आधारित फिल्में अक्सर हिट रहती हैं, और डायरेक्टर भी दर्शकों की नब्ज पकड़ते हुए भावनाओं को बखूबी उकेरते हैं. ऐसी ही कला में माहिर हैं महेश भट्ट. जिन्होंने यूं तो बॉलीवुड को कई शानदार फिल्में दी हैं लेकिन उनकी फिल्म ‘काश’ सुपरहिट यादगार फिल्म थी. इस फिल्म की कहानी से लेकर संगीत सब कुछ इतना जबरदस्त था कि दर्शक आज भी भूल नहीं पाए हैं. कहते हैं कि महेश की दिली तमन्ना थी कि विनोद खन्ना को लेकर फिल्म बनाए. कहानी भी तैयार थी, लेकिन जब विनोद को कहानी सुनने के बाद चला कि ये फिल्म सुपर स्टार राजेश खन्ना के जीवन पर है तो उन्होंने  काम करने से मना कर दिया था. उन्हें राजेश के किरदार को पर्दे पर निभाना पसंद नहीं आया. ऐसे में महेश ने जैकी श्रॉफ पर दांव खेला जो उस वक्त गंभीर एक्टर नहीं माने जाते थे.

‘काश’ फिल्म में जैकी श्रॉफ और डिंपल कपाड़िया लीड एक्टर थे. (फोटो साभार:Movies N Memories/twitter)

‘काश’ का संगीत है शानदार
‘काश’  फिल्म को संगीत राजेश रोशन ने दिया था. ‘काश’ फिल्म में किशोर कुमार  की आवाज में गानों ने लोगों का मन मोह लिया था, लेकिन दुखद यह रहा कि फिल्म रिलीज होने के महीने भर बाद ही दुनिया छोड़ गए थे. खास बात ये है कि इस फिल्म में एक गाने को फेमस कॉमेडी एक्टर महमूद ने भी गाया था. फिल्म के गाने ‘ओ यारा’, ‘बाद मुद्दत के हम तुम मिले,मुड़के देखा तो थे फासले’, ‘तू प्यारों से है प्यारा’ और ‘कोई नहीं ये जाने’,  जैसे गाने रिलीज होते ही छा गए थे.  महमूद के भाई अनवर ही इस फिल्म के प्रोड्यूसर भी थे.

‘काश’ फिल्म में अनुपम खेर ने भी शानदार काम किया था. (फोटो साभार:Movies N Memories/twitter)

 ‘काश’ की कहानी
जैकी श्रॉफ यानी रितेश एक सफल फिल्म एक्टर है जिसने खुद के लिए एक फिल्म को प्रोड्यूस किया और अपना सबकुछ हार गया. असफलता को पचा नहीं पाने की वजह से शराब की लत लग जाती है. रितेश की वाइफ पूजा यानी डिंपल कपाड़िया और सात साल के बेटे रोमी के साथ रईसों वाली जिंदगी बिता रहा था. अब हालत ये हो जाती है कि पूजा घर चलाने के लिए नौकरी करती है. एक दिन पूजा के साथ बदमीजी होती है तो आलोक यानी अनुपम खेर बचाता है. आलोक जब पूजा को उसके घर ड्रॉप कर रहा होता है तो रितेश इसे गलत तरीके से लेता है. दोनों में खूब झगड़ा होता है. रितेश उसे नौकरी और घर में से कोई एक चीज चुनने के लिए कहता है. ऐसे में पूजा अपनी आइडेंटिटी के लिए घर छोड़ देती है. बेटे रोमी की कस्टडी को लेकर विवाद होता है. इसी बीच एक दिन पता चलता है कि बेटे रोमी को ब्रेन ट्यूमर है, जिंदगी के कुछ समय ही बचे हैं. इसके बाद कहानी में ऐसा इमोशन आता है कि सिनेमाघर में बैठा दर्शक भी ‘काश’ कहने को मजबूर हो जाता है.

‘काश’ में जैकी श्रॉफ के साथ मास्टर मकरंद ने दर्शकों को दिल जीत लिया था. (फोटो साभार:Movies N Memories/twitter)

ये भी पढ़िए-16Years of No Entry: सलमान,अनिल और फरदीन जब पहाड़ी पर एक दूसरे की टांग पकड़ लटक गए, खतरनाक था स्टंट

जैकी श्रॉफ, डिंपल कपाड़िया के अलावा अनुपम खेर और बाल कलाकार मास्टर मकरंद ने शानदार अदाकारी सिल्वर स्क्रीन पर दिखा दर्शकों का दिल जीत लिया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *