September 23, 2021

NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

किन्नौर भूस्खलनः 100 मीटर में बिखरे मिले बस के हिस्से, अब भी गिर रहे पत्थर, रोकना पड़ा राहत बचाव का काम

1 min read
Spread the love

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में बुधवार को एक बस और अन्य वाहन भूस्खलन की चपेट में आ गए। घटना स्थल पर अभी भी पत्थर गिर रहे हैं। जिस कारण से राहत और बचाव कार्य को रोक दिया गया है। आईटीबीपी के प्रवक्ता विवेक पांडेय ने गुरुवार को कहा कि फिलहाल राष्ट्रीय राजमार्ग बंद है। पांडे ने बताया कि एचआरटीसी बस का मलबा 100 मीटर क्षेत्र में फैला हुआ है।

बताते चलें कि घटना में कुछ वाहनों के साथ ही मलबे में हिमाचल सड़क परिवहन निगम (एचआरटीसी) की एक बस भी दब गई थी। निचार तहसील के निगुलसारी क्षेत्र के चौरा गांव के पास राष्ट्रीय राजमार्ग पांच पर बुधवार की दोपहर को भूस्खलन के बाद पहाड़ से गिरे पत्थरों की चपेट में हिमाचल सड़क परिवहन निगम (एचआरटीसी) की एक बस आ गई थी, जो रिकांग पियो से शिमला होते हुए हरिद्वार जा रही थी।

स्थानीय पुलिस के सदस्य, होमगार्ड, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) संयुक्त रूप से बचाव अभियान चला रहे हैं। अधिकारियों ने बुधवार रात करीब 10 बजे तलाश अभियान स्थगित कर दिया था। बुधवार को 10 लोगों के शव मिले थे तथा 13 घायलों को बचा लिया गया था, जबकि कई अन्य के मलबे में दबे होने की आशंका है।

भावनगर के थानाप्रभारी ने बुधवार को कहा था कि करीब 25 से 30 लोग मलबे में दबे हुए हैं। प्रारंभिक जानकारी सामने आने के बाद हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने राज्य विधानसभा को बताया था कि मलबे के नीचे 50-60 लोगों के फंसे होने की आशंका है, लेकिन उचित संख्या का पता नहीं चल पाया है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *