NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

कोविड-19 के बावजूद भारत के कृषिक्षेत्र ने अच्छा प्रदर्शन किया: कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

1 min read
Spread the love


नई दिल्ली. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Agriculture Minister Narendra Singh Tomar) ने मंगलवार को कहा कि भारतीय कृषि ने कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के दौरान अच्छा प्रदर्शन किया और 2020-21 के दौरान 30.5 करोड़ टन खाद्यान्नों का अब तक का सर्वाधिक उत्पादन किया. इस दौरान अनाज का अब तक का सर्वाधिक निर्यात कर भारत ने वैश्विक खाद्य सुरक्षा में योगदान किया. यह कहते हुए कि कोविड ​​​​-19 महामारी ने इस क्षेत्र की ओर ध्यान खींचा है, तोमर ने कहा कि भारत कृषि में अपने जबरदस्त वृद्धि के साथ अपनी सर्वोत्तम प्रथाओं को दूसरे देशों के साथ साझा करने के साथ साथ अन्य विकासशील देशों की क्षमता का निर्माण करना जारी रखेगा.

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) के 42वें सत्र को आभासी रूप से संबोधित करते हुए तोमर ने कहा, ‘‘भारत के लिए कृषि हमेशा से एक उच्च प्राथमिकता रही है, और भारत सरकार हमेशा किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है.’’ उन्होंने यह भी कहा कि भारत जलवायु परिवर्तन समझौते के तहत अपनी प्रतिबद्धताओं के प्रति सचेत है और जलवायु परिवर्तन से निपटने और जलवायु परिवर्तन के प्रतिकूल प्रभावों को कम करने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में प्रभावी कदम उठा रहा है.

ये भी पढ़ें- डेल्टा वेरिएंट पर किसी अन्य वैक्सीन की तुलना में ज्यादा प्रभावी है स्पूतनिक V: स्टडी

जैविक खेती को बढ़ावा दे रहा भारतउन्होंने कहा कि भारत ने जलवायु परिवर्तन के प्रतिकूल प्रभावों के लिए कृषि को मजबूत बनाने के लिए तकनीकों को विकसित करने, प्रदर्शित करने और प्रसारित करने के लिए एक राष्ट्रीय मिशन के तहत विभिन्न परियोजनाएं शुरू की हैं, उन्होंने कहा कि भारत बड़े पैमाने पर जैविक खेती को बढ़ावा दे रहा है.

तोमर ने कहा, ‘‘मुझे यकीन है कि कृषि उत्पादकता में सुधार, भूख और कुपोषण को समाप्त करने के लिए सभी सदस्य देशों के साथ एफएओ के अथक प्रयास दुनिया को सुरक्षित और स्वस्थ स्थान बनाने में लम्बी भूमिका निभाएंगे.’’

तोमर ने कहा, ’नीति निर्माताओं की दूरदृष्टि, हमारे कृषि वैज्ञानिकों के ज्ञान-अनुसंधान , हमारे किसानों के श्रम का परिणाम है कि भारत खाद्यान्न के मामले में आत्मनिर्भर है.’

तोमर ने कहा कि भारत कई कृषि जिंसों का एक प्रमुख उत्पादक या दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है.

तोमर ने वर्ष 2023 को अंतर्राष्ट्रीय बाजरा वर्ष घोषित करने के भारतीय प्रस्ताव का समर्थन करने के लिए एफएओ के समर्थन की बात को स्वीकारा है.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)





#कवड19 #क #बवजद #भरत #क #कषकषतर #न #अचछ #परदरशन #कय #कष #मतर #नरदर #सह #तमर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *