NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

क्या कोरोना वैक्सीन लगाना है जरूरी? जानें वैक्सीनेशन से जुड़े सभी सवालों के जवाब

1 min read
Spread the love


Corona Vaccine: दुनिया को वर्ष 2020 में SARS COV 2 के रूप में बहुत ही ख़तरनाक बीमारी (कोविड-19) का उपहार मिला जिसने पूरे दुनिया को तबाह कर रखा है. लोगों को शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक अवसाद में धकेलने के अलावा उन्हें गहरा वित्तीय झटका भी लगा है. इसके लिए कई तरह के इलाज आजमाए गए हैं पर कुछ भी अचूक साबित नहीं हुआ है. लोगों को टीका लगाने का अभियान पूरी दुनिया में चलाया गया है और यह उम्मीद की जाती है कि यह संक्रमण पर लगाम लगाएगा. इस वायरस की अपनी कोई कोशिका नहीं होती इसलिए वह जिसके शरीर में प्रवेश करता है उसी के शरीर की मदद लेकर फैलता है. टीका (Vaccine) हमारे शरीर को इस वायरस को पहचानने और इसको मारने के लिए जरूरी एंटीबॉडी बनाने की क्षमता देता है जो इसके प्रसार पर भी रोक लगाता है. भारत में इस समय दो तरह के वैक्सीन उपलब्ध हैं- कोवैक्सिन (COVAXIN) और कोविशील्ड (COVISHIELD). हम यहां वैक्सीन के बारे में कुछ आम प्रश्नों का उत्तर दे रहे हैं.

1. क्या वैक्सीन लेना आवश्यक है?

-कोई भी इलाज या टीकाकरण आवश्यक नहीं होता. यह किसी व्यक्ति का निजी फ़ैसला हो सकता है. पर लोगों को टीका लगवाने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह आपके शरीर को वायरस से लड़ने की क्षमता देता है और अगर ज़्यादा से ज़्यादा लोग टीका लगवाएंगे तो इसके प्रसार पर रोक लग पाएगी.

इसे भी पढ़ेंः ऐसे करें कोविड जांच, जानें RTPCR और RAT में क्या है अंतर

 2. टीका कौन लगवा सकता है?

-18 से अधिक उम्र का कोई भी व्यक्ति. अभी 2 से 18 की उम्र के लिए टीके का ट्रायल हो रहा है और शीघ्र ही यह इस आयु वर्ग के लिए भी उपलब्ध होगा.

-अभी तक गर्भवती और बच्चों को स्तनपान करानेवाली महिलाओं के लिए टीका सुरक्षित है कि नहीं इस बारे में पुख़्ता जानकारी नहीं है.

-जिन लोगों को डायबिटीज़, हाइपरटेंशन, कैंसर, हृदय रोग, गुर्दे की बीमारी, यकृत (लीवर) की बीमारी, थाइरॉयड, इम्यूनोसप्रेसिव जैसी बीमारी है उसे यह टीका अवश्य ही लेना चाहिए क्योंकि उन पर ज़्यादा ख़तरा है. हालांकि ऐसे लोगों को टीका लेते समय वहां यह बताना चाहिए और यह भी कि वे कौन सी दवाएं ले रहे हैं.

3. टीका कौन नहीं ले सकता है?
-अगर किसी व्यक्ति को किसी दवा से एलर्जी है तो उसे टीका लगवाते वक़्त इस बात की जानकारी स्वास्थ्य अधिकारी को देनी चाहिए.
-जिस व्यक्ति को टीके की पहली खुराक से एलर्जी हुई उसे इसकी दूसरी खुराक नहीं लेनी चाहिए.
-ऐसे लोग जो ज्वर ब्याधि, खांसी, सर्दी, बुखार आदि से ग्रस्त हैं उन्हें इससे पूरी तरह ठीक होने तक टीका नहीं लेना चाहिए.
-जिन लोगों को रक्त की गड़बड़ी है जैसे कि शरीर में प्लेटलेट का कम होना या अगर वे कोई ऐसी दवा ले रहे हैं जो खून को पतला करता है तो उन्हें इस बारे में टीका लेने के पहले स्वास्थ्य अधिकारी को बताना चाहिए.

4. कौन सा टीका बेहतर है?

-कोई टीका दूसरे से बेहतर नहीं है. दोनों ही टीके समान रूप से प्रभावी और सुरक्षित हैं.

5. क्या कोई व्यक्ति दोनों खुराक अलग-अलग टीके का ले सकता है?

-नहीं. किसी को भी अलग-अलग टीके की खुराक नहीं लेनी चाहिए.

6. क्या हम टीका लेने के बाद गाड़ी चला सकते हैं या काम कर सकते हैं?

-हां. गाड़ी चलाने या मशीन के प्रयोग पर टीका लेने का नगण्य या एकदम ही कोई असर नहीं होता.

7. क्या टीके की दो खुराक लेनी जरूरी है?

-हां, अगर आप दो खुराक लेते हैं तो आप में वायरस के संक्रमण की आशंका उन लोगों की अपेक्षा ज़्यादा कम हो जाती है जिन्होंने सिर्फ एक ही खुराक ली है.

8. दोनों खुराक के बीच में कितना अंतर होना चाहिए?

-कोवीशिल्ड (COVISHIELD)- 12 से 16 सप्ताह

-कोवैक्सिन (COVAXIN)- 28 दिन

9. टीके की पहली और दूसरी खुराक के बाद शरीर में किस तरह का बदलाव होता है?

-टीका शरीर में वायरस से लड़ने के लिए आवश्यक एंटीबॉडीज बनाता है. दूसरी खुराक लेने के बाद शरीर में एंटीबॉडीज की मात्रा ज़्यादा हो जाती है और इसलिए वायरस से संक्रमण का ख़तरा भी कम हो जाता है और अगर संक्रमण होता भी है तो वह बहुत ही मामूली होता है.

-कुछ लोगों में टीका के बाद हल्का सिरदर्द, खुराक में कमी, चक्कर, मिचली, उल्टी, पेट में दर्द, शरीर में खुजली, शरीर पर दाने, बदन दर्द, जहां टीका लगाया गया वहां हल्का दर्द या भारीपन, थकान, बुखार आदि हो सकता है. ये सभी लक्षण काफ़ी मामूली होते हैं और दवा लेने से ठीक हो जाते हैं इसलिए इनकी चिंता करने की ज़रूरत नहीं है.

10. टीकाकरण के बाद भी क्या हमें मास्क पहनने की ज़रूरत है?

-हां. कोई भी टीका सौ फ़ीसदी आपकी सुरक्षा नहीं करता इसलिए यह ज़रूरी है कि आप सारी एहतियात जैसे मास्क से अपने मुंह और नाक को ढकना, किसी से हाथ नहीं मिलाना, सामाजिक दूरी, हाथ को सैनिटाइज करना, किसी को गले नहीं लगाना आदि जारी रखें.

11. क्या कोई व्यक्ति कोविड संक्रमण के बाद टीका ले सकता है?

-हां. संक्रमण से उबरने के बाद लोग टीका ले सकते हैं. अगर कोविड पहली खुराक के बाद होता है तो पूरी तरह ठीक हो जाने के बाद शेड्यूल के अनुरूप टीका लेना चाहिए. अगर अभी तक कोई टीका नहीं लगा है तो नए दिशानिर्देश के अनुसार, पॉज़िटिव होने की तिथि के 90 दिन बाद इस तरह का व्यक्ति टीका ले सकता है और दूसरी खुराक इसके बाद शेड्यूल के अनुसार.

इसे भी पढ़ेंः ऐसा होना चाहिए एनीमिया रोगियों का डाइट प्लान, पूरी होगी आयरन की कमी

12. अगर कोई धूम्रपान करता है या शराब पीता है तो ऐसे व्यक्ति को टीका लेने से कोई समस्या आ सकती है?

-नहीं. धूम्रपान करनेवाले और शराब पीनेवाले भी टीका ले सकते हैं. इस तरह का कोई डाटा नहीं है जो यह बताए कि इस तरह के लोगों पर इसका कोई प्रतिकूल असर होता है. पर ऐसे लोगों को यह सुझाव दिया जाता है कि वे धूम्रपान और शराब पीना बंद कर दें क्योंकि यह आपके इम्यूनिटी को कमजोर करता है और संक्रमण होने का ख़तरा ज़्यादा होता है. वैसे भी ये आदतें स्वास्थ्य के लिए अच्छी नहीं हैं.

डॉ. निकेत राय/Dr Niket Rai

एसोसियेट प्रोफ़ेसर

डिपार्टमेंट ऑफ़ फ़ार्मकॉलॉजी

मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज एवं लोकनायक अस्पताल

नई दिल्ली



#कय #करन #वकसन #लगन #ह #जरर #जन #वकसनशन #स #जड #सभ #सवल #क #जवब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *