NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

खुशखबरी…भारत में कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी का उत्पादन शुरू, सालाना 10 करोड़ डोज बनेंगे

1 min read
Spread the love


स्पूतनिक वी (Sputnik V) तीसरी ऐसी वैक्सीन है जिसको भारत में ड्रग रेगुलेटर से कोरोना टीकाकरण के लिए इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली है. (सांकेतिक फोटो)

हिमाचल प्रदेश के बड्डी में बना वैक्सीन का पहला बैच क्वालिटी कंट्रोल जांच के लिए मास्को भेजा जाएगा

नई दिल्ली. भारत में कोरोना वैक्सीनेशन के लिए एक और वैक्सीन का उत्पादन शुरू हो गया है. यह वैक्सीन है रूस की स्पूतनिक वी (Sputnik V). 24 मई को आए एक संयुक्त बयान में रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) और भारतीय दवा उत्पादक कंपनी पैनासिया बायोटेक (Panacea Biotec) ने इसकी जानकारी दी है. संयुक्त बयान में कहा है कि भारत में कोरोना टीकाकरण के लिए तीसरी वैक्सीन के रूप में इमरजेंसी यूज की मंजूरी हासिल करने वाली स्पूतनिक वी वैक्सीन का उत्पादन शुरू कर दिया गया है. इस बयान में आगे कहा गया है कि पैनासिया बायोटेक के हिमाचल प्रदेश के बड्डी में बना वैक्सीन का पहला बैच क्वालिटी कंट्रोल जांच के लिए मास्को (Moscow) स्थित गामालेया सेंटर ( Gamaleya Centre) भेजा जाएगा. यह भी पढ़ें : सोने में निवेश के लिए इस टिप्स को अपनाएं, हो जाएंगे मालामाल इन्हीं गर्मियों में ही वैक्सीन का फुल स्केल प्रोडक्शन शुरू होगाबयान में यह भी कहा गया है कि इन गर्मियों में ही इस वैक्सीन का फुल स्केल प्रोडक्शन शुरू हो जाएगा. पैनासिया बायोटेक की उत्पादन ईकाईयां जीएमपी मानकों का पालन करती है और उसको डब्ल्यूएचओ की पूर्व मंजूरी प्राप्त है. पैनासिया बायोटेक के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ राजेश जैन ने कहा है कि स्पूतनिक वी वैक्सीन के प्रोडक्शन की शुरुआत कोरोना के खिलाफ भारत की लड़ाई में अहम कदम है. यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : महामारी में साइकोमेट्रिक्स टेस्ट और वर्चुअल इंटरव्यू की ट्रिक से पक्की करें अपनी जॉब
वैक्सीन का एक्सपोर्ट कोरोना के खिलाफ लड़ रहे दूसरे देशों को भी होगा आरडीआईएफ के सीईओ किरिल डिमित्रीव (Kirill Dmitriev) ने कहा है कि स्पूतनिक वी वैक्सीन का भारत में घरेलू प्रोडक्शन शुरु होने से जल्द से जल्द कोरोना को हराने में सहायता मिलेगी. बाद में इस वैक्सीन का एक्सपोर्ट कोरोना के खिलाफ लड़ रहे दूसरे देशों को किया जाएगा. पैनासिया बायोटेक के अलावा आरडीआईएफ ने इस वैक्सीन के उत्पादन के लिए हैदाराबाद स्थित कंपनी डॉ रेड्डीज लैब के साथ भी करार किया है. यह भी पढ़ें : गिल्ट फंड की बड़ी डिमांड, आप भी इसमें पैसा लगाकर हो सकते हैं मालामाल, जानें सबकुछ स्पूतनिक वी वैक्सीन 97.6 फीसदी कारगर 12 अप्रैल 2021 को भारत में स्पूतनिक वी वैक्सीन के इमरजेंसी यूज को मंजूरी मिली थी. अप्रैल में पैनासिया बायोटेक और आरडीआईएफ ने इस वैक्सीन के उत्पादन के लिए करार का एलान करते हुए बताया था कि भारत में 10 करोड़ डोज हर साल उत्पादन के लिए करार किया गया है. स्पूतनिक वी वैक्सीन को पूरी दुनिया में 66 देशों में मंजूरी मिल चुकी है जिनमें 3.2 अरब लोग रहते हैं. जांच में में स्पूतनिक वी वैक्सीन 97.6 फीसदी कारगर पाई गई है.









#खशखबरभरत #म #करन #वकसन #सपतनक #व #क #उतपदन #शर #सलन #करड़ #डज #बनग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *