September 23, 2021

NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

धर्मेंद्र और विनोद खन्ना की ‘रखवाला’ के 50 बरस पूरे, फिल्म में खुद किया था फाइटिंग सीन

1 min read
Spread the love

50 Years of Rakhwala: बॉलीवुड के लीजेंड एक्टर्स धर्मेंद्र (Dharmendra), विनोद खन्ना ( Vinod Khanna) और लीना चंदावरकर (Leena Chandavarkar)  की फिल्म ‘रखवाला’ (Rakhwala) आज से 50 साल पहले रिलीज हुई थी. 12 अगस्त 1971 में जब ये फिल्म रिलीज हुई थी उस वक्त सिनेमा एक नई करवट लेने की तैयारी में था. कॉमर्शियल युग में इंडियन सिनेमा एंट्री ले रहा था. राजेश खन्ना जैसे सुपरस्टार पुराने एक्टर्स को पीछे कर नई बुलंदी हासिल कर रहे थे वहीं अमिताभ बच्चन जैसे स्टार्स अपनी जगह बनाने में जुटे थे. इसी दौर में धर्मेंद्र और विनोद स्टारर फिल्म ‘रखवाला’ बनाई गई.

‘रखवाला’ को औसत सफलता मिली थी

पिछले 50 बरसों में न सिर्फ स्टारडम का पैमाना बदला बल्कि फिल्म इंडस्ट्री के कई सेट मापदंड भी टूट गए. टेक्नोलॉजी की वजह से भी फिल्मों को देखने समझने के साथ-साथ बनाने का नजरिया भी बदला है. उस दौर में ऐसा नहीं होता था. उस दौर में सिनेप्रेमी अपने फेवरेट स्टार्स की फिल्में एक बार नहीं बल्कि कई-कई बार देखते थे और इसके बारे में बताते हुए शेखी भी बघारते थे. हीरो-हीरोईन और विलेन वाले फॉर्मूले पर ही बनाई गई फिल्म ‘रखवाला’ थी. इसमें हीरो बने धर्मेंद्र और विलेन विनोद खन्ना. दोनों ही शानदार एक्टर थे जिनके करिश्में की बदौलत फिल्म को ठीकठाक सफलता मिली. उस साल की टॉप फाइव फिल्मों में तो शुमार नहीं हुई लेकिन धर्मेंद्र-विनोद के फैंस फिल्म को देखने थियेटर पहुंचे थे.

rakhwala, vinod khanna, madan puri

(फोटो साभार: Movies N Memories/Twitter)

विनोद खन्ना बने थे फिल्म के विलेन 

विनोद खन्ना एक ऐसे हैंडसम वर्सेटाइल एक्टर थे जिसने हीरो और विलेन दोनों का रोल सिल्वर स्क्रीन पर बखूबी निभाया. फिल्म जानकारों की माने तो धर्मेंद्र और विनोद खन्ना के बीच इस फिल्म में कई फाइटिंग सीन हुए लेकिन दोनों ने ही फाइटिंग के लिए बॉडी डबल का सहारा नहीं लिया बल्कि खुद ही किया. जबकि उस दौर में एक्टर मारा-मारी वाला सीन खुद करने से बचते थे.

(फोटो साभार: Movies N Memories/Twitter)

‘रखवाला’ फिल्म की कहानी

धर्मेंद्र ने ‘रखवाला’ फिल्म में दीपक नामक कैरेक्टर प्ले किया था जो चांदनी नामक लड़की से प्यार करता था और शादी करना चाहता था. चांदनी का रोल लीना चंदावरकर ने निभाया था. चांदनी एक रईस ज्वाला प्रसाद की लाडली बेटी थी. ज्वाला प्रसाद का रोल मदन पुरी (Madan Puri) ने प्ले किया था. श्याम यानी विनोद खन्ना ज्वाला प्रसाद को असिस्ट करता था लेकिन उसकी आंख ज्वाला प्रसाद की संपत्ति और बेटी चांदनी  दोनों पर थी. हर फिल्मी कहानी की हैप्पी एंडिंग की तरह आखिरकार दीपक-चांदनी एक हो जाते हैं. इस फिल्म के गाने काफी पसंद किए गए थे.

‘रखवाला’ का संगीत

‘रखवाला’ मोहम्मद रफी, लता मंगेशकर और आशा भोसले की आवाज से सजी म्यूजिकल फिल्म थी.कल्याण जी-आनंद जी की जोड़ी ने फिल्म को संगीत दिया था. कंटेपरेरी म्यूजिक की वजह से भी इस फिल्म को जाना जाता है.

ये भी पढ़िए-33 Years of Khoon Bhari Maang: कबीर बेदी को जब राकेश रोशन ने दिया था ऑफर तो बोले- क्या बॉलीवुड हड़ताल पर है ?

अनिल कपूर की ‘रखवाला’ अधिक हिट हुई 

‘रखवाला’ की रिलीज के लगभग दो दशक बाद इसी नाम से अनिल कपूर स्टारर फिल्म बनी. हालांकि नाम ही केवल वही रखा फिल्म की कहानी अलग थी. अनिल कपूर की ‘रखवाला’ अधिक हिट हुई.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *