NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

फ्लाइट के अंदर मिलेगी वाई-फाई की सुविधा! एलन मस्क की कंपनी स्टारलिंक देगी इंटरनेट सर्विस

1 min read
Spread the love


एलन मस्क

स्टारलिंक के वाइस प्रेसिडेंट कर्मशियल सेल्स जोनाथन हॉफेलर ने कनेक्टेड एविएशन इंटेलिजेंस समिट में कहा, “हम कई एयरलाइनों के साथ बातचीत कर रहे हैं.”

नई दिल्ली. स्पेसएक्स (SpaceX) के सीईओ एलन मस्क (Elon Musk) की सैटेलाइट इंटरनेट सेवा स्टारलिंक (Starlink) आने वाले समय में इन फ्लाइट वाई-फाई की सुविधा दे सकती है. इसके लिए कंपनी कई एयरलाइनों के साथ बातचीत कर रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 2018 के बाद से, स्पेसएक्स ने लगभग 4,400 में से लगभग 1,800 स्टारलिंक सैटेलाइट्स (Starlink Satellites) को लॉन्च किया है. ब्रॉडबैंड इंटरनेट का कवरेज मुख्य रूप से ग्रामीण घरों के लिए हैं जहां फाइबर कनेक्शन उपलब्ध नहीं हैं. लेकिन स्टारलिंक का अब एयरलाइनों में विस्तार किया जा रहा है, क्योंकि स्पेसएक्स इस साल के अंत में ब्रॉडबैंड नेटवर्क को कर्मशियल रूप से ओपन करने की दौड़ में है.

एविएशन हार्डवेयर को स्पेसएक्स द्वारा डिजाइन और निर्मित किया जाएगा

स्टारलिंक के वाइस प्रेसिडेंट कर्मशियल सेल्स जोनाथन हॉफेलर ने बुधवार को कनेक्टेड एविएशन इंटेलिजेंस समिट में कहा, “हम कई एयरलाइनों के साथ बातचीत कर रहे हैं. हमारे पास विकास में अपना खुद का विमानन प्रोडक्ट है. स्पेसएक्स के एयरलाइन एंटेना के लिए डिजाइन उसके उपभोक्ता टर्मिनलों के अंदर की तकनीक के समान होगा.” उन्होंने कहा कि एविएशन हार्डवेयर को स्पेसएक्स द्वारा डिजाइन और निर्मित किया जाएगा. स्टारलिंक उपग्रहों के साथ संचार करने के लिए हवाई एंटेना ग्राउंड स्टेशनों से जुड़ सकते हैं.

इस साल इंटरनेट स्पीड 300 एमबीपीएस कर देगीपिछले साल, स्पेसएक्स ने पांच गल्फस्ट्रीम जेट पर स्टारलिंक का परीक्षण करने की योजना दायर की और मार्च में, इसने कारों, ट्रकों, जहाजों और विमानों सहित सिग्नल प्राप्त करने वाले वाहनों के साथ स्टारलिंक का उपयोग करने के लिए यूएस फेडरल कम्युनिकेशंस कमीशन की मंजूरी मांगी. पिछले महीने की शुरुआत में, एलन मस्क ने यह भी घोषणा की कि नई स्टारलिंक इंटरनेट सेवा भारत सहित दुनिया भर के दूरदराज के क्षेत्रों में लोगों के लिए वेब एक्सेस को और अधिक किफायती बना देगी. सैटेलाइट ब्रॉडबैंड कंपनी इस साल इंटरनेट स्पीड को दोगुना कर 300 एमबीपीएस कर देगी.

12,000 उपग्रहों के नेटवर्क के माध्यम से हाई स्पीड इंटरनेट देने की योजना

कंपनी वर्तमान में स्टारलिंक परियोजना के लिए 50 और 150 एमबीपीएस के बीच गति का वादा करती है, जो लगभग 12,000 उपग्रहों के नेटवर्क के माध्यम से हाई स्पीड इंटरनेट देने की योजना बना रही है. कंपनी पहले ही अपने 1,200 से अधिक स्टारलिंक उपग्रहों को कक्षा में स्थापित कर चुकी है. स्पेसएक्स वर्तमान में भारत में पूर्व-आदेशों पर 99 डॉलर की पूरी तरह से वापसी योग्य जमा राशि के लिए स्टारलिंक के बीटा संस्करण की पेशकश कर रहा है.







#फलइट #क #अदर #मलग #वईफई #क #सवध #एलन #मसक #क #कपन #सटरलक #दग #इटरनट #सरवस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *