NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

बड़ी खबर: लगातार दूसरे ओलंपिक से पहले डोप टेस्‍ट में फेल भारतीय पहलवान, सुमित मलिक अस्थायी रूप से निलंबित

1 min read
Spread the love


सुमित मलिक ने वर्ल्ड रेसलिंग ओलंपिक क्वालिफायर्स में ओलंपिक कोटा हासिल किया था. (सुमित मलिक इंस्टाग्राम)

2016 रियो ओलंपिक से कुछ सप्ताह पहले नरसिंह पंचम यादव भी डोपिंग जांच में विफल हो गये थे और उन पर चार साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था.

नई दिल्ली. ओलंपिक टिकट हासिल करने वाले भारतीय पहलवान सुमित मलिक (Sumit Malik) को बुल्गारिया में हाल ही में क्वालीफायर के दौरान डोप परीक्षण में विफल रहने के बाद अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है. टोक्यो खेलों के शुरू होने से कुछ सप्ताह पहले यह देश के लिए एक बड़ी शर्मिंदगी का सबब है.

यह लगातार दूसरा ओलंपिक  है, जब खेलों के शुरू होने से कुछ दिन पहले डोपिंग का मामला मिला है.

इससे पहले 2016 रियो ओलंपिक से कुछ सप्ताह पूर्व नरसिंह पंचम यादव भी डोपिंग जांच में विफल हो गये थे और उन पर चार साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था.

राष्ट्रमंडल खेलों (2018) के स्वर्ण पदक विजेता मलिक ने बुल्गारिया स्पर्धा में 125 किग्रा वर्ग में टोक्यो ओलंपिक  के लिए क्वालीफाई किया था जो पहलवानों के लिए कोटा हासिल करने का आखिरी मौका था. इस मामले के बाद 23 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक में भाग लेने का इस 28 साल के पहलवान का सपना लगभग खत्म हो गया.राष्ट्रीय शिविर के दौरान लगी थी चोट

भारतीय कुश्ती संघ (डब्ल्यूएफआई) के सूत्र ने पीटीआई-भाषा से कहा कि यूडब्ल्यूडब्ल्यू (यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग) ने भारतीय कुश्ती महासंघ को सूचित किया कि सुमित डोप टेस्ट में विफल हो गए हैं. अब उन्हें 10 जून को अपना ‘बी’ नमूना देना है. मलिक घुटने की चोट से जूझ रहे हैं. उन्हे ये चोट ओलंपिक क्वालीफायर शुरू होने से पहले राष्ट्रीय शिविर के दौरान लगी थी. उन्होंने अप्रैल में अल्माटी में एशियाई क्वालीफायर में भाग लिया था, लेकिन कोटा हासिल करने में सफल नहीं हुए.

नाओमी ओसाका तो घर लौट गईं, मगर भविष्‍य के उन जैसे तमाम खिलाड़ियों का क्या?

पोलैंड की अभ्यास यात्रा पर नहीं गये थे

मई में सोफिया में आयोजित विश्व ओलंपिक क्वालीफायर में हालांकि मलिक ने फाइनल में पहुंचकर कोटा अर्जित किया. वह हालांकि चोट के कारण फाइनल मुकाबले के लिए रिंग में नहीं उतरे थे. ओलंपिक से पहले अपने चोटिल घुटने को पूरी तरह से ठीक करने के लिए मलिक डब्ल्यूएफआई द्वारा टोक्यो कोटाधारी पहलवानों के लिए आयोजित पोलैंड की अभ्यास यात्रा पर नहीं गये थे.

 

World Cup Qualifiers: मेसी ने इंटरनेशनल करियर का 72वां गोल दागा, सुनील छेत्री की बराबरी की

इलाज के लिए आयुर्वेदिक दवा ले रहे थे सुमित

सूत्र ने बताया कि उसने अनजाने में कुछ लिया होगा. वह अपने चोटिल घुटने के इलाज के लिए कोई आयुर्वेदिक दवा ले रहे थे और उसमें कुछ प्रतिबंधित पदार्थ हो सकते थे. उन्होंने कहा कि लेकिन इन पहलवानों को सावधान रहना चाहिए था, वे ऐसी दवाओं के लेने से होने वाले जोखिम के बारे में जानते हैं. मलिक का बी नमूना भी अगर पॉजिटिव आता है तो उन्‍हें खेल से प्रतिबंधित किया जा सकता है. उन्‍हें निलंबन को चुनौती देने का अधिकार है लेकिन यह स्पष्ट है कि जब तक सुनवाई होगी और फैसला आएगा तब तक वह ओलंपिक में प्रतिस्पर्धा करने से चूक जाएंगे.







#बड #खबर #लगतर #दसर #ओलपक #स #पहल #डप #टसट #म #फल #भरतय #पहलवन #समत #मलक #असथय #रप #स #नलबत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *