NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

बारिश के मौसम में बढ़ जाते हैं इंफेक्‍शन के चांसेज़, इस तरह करें अपना बचाव

1 min read
Spread the love


Skincare During Monsoons : भीषण गर्मी झेलने के बाद बरसात का आगमन कई तरह से राहत दिलाता है लेकिन इस मौसम में नमी और गर्मी बढ़ने के कारण कई तरह की बीमारियां भी बढ़ने लगती हैं. इस मौसम में अनुकूल वातावरण पाकर कई तरह के माइक्रोब्‍स (Micro Organisms) और फंगस (Fungas) तेजी से पनपने लगते हैं जो हमारी स्किन पर मुंहासे और ब्रेकआउट्स की भी वजह बनते हैं. यही नहीं, बारिश के मौसम में त्वचा पहले की तुलना में कहीं ज़्यादा ऑयली हो जाती है जिससे स्किन पर कई समस्‍याएं आने लगती हैं. आज जब देश कोविड के संक्रमण से बेहाल है तो इस माहौल में हमें और भी सतर्क रहने की जरूरत है. तो आइए जानते हैं कि हम मानसून के मौसम में किन बातों को ध्‍यान में रखें कि इन फंगल और बैक्‍टीरिया से खुद का बचाव कर सकें. -हमेशा हल्‍के और ढीले कपड़ें पहनें. इससे आपकी स्किन पर्याप्‍त सांस ले पाएगी और स्किन पर किसी तरह के संक्रमण की संभावना कम रहेगी. -हमेशा अच्‍छी तरह से सुखाए हुए और साफ कपड़े ही पहनें. अगर पसीना अधिक निकलता हो तो कुछ कुछ घंटों में कपड़े बदलते रहें. इसे भी पढ़ें : काली मिर्च के साथ मिश्री का करें इस्‍तेमाल, सेहत के लिए है बेहद फायदेमंद-प्रॉपर हाइजीन जरूरी है. ऐसे में दो बार नहाएं, हाथों को कुछ कुछ घंटों पर साफ करते रहें, नाखूनों को काट कर रखें. -लोगों के साथ अपना टॉवल, नेलकटर, लूफा आदि शेयर ना करें. -पब्लिक प्‍लेस में हमेशा फुटवेयर पहनें. घर पर भी खाली पैर चलने से बचें. चप्‍पल ऐसी पहनें जो हवादार हों.
-अगर आपके अंडर आर्म में बहुत पसीना आता हो और आप इससे परेशान हैं तो आप स्‍वेट ऐब्‍जॉर्बेंट पैच का प्रयोग कर सकते हैं. स्किन रैश है तो इस तरह रखें इनका ख्‍याल -जहां तक हो सके प्रभावित एरिया को सूखा रखें और क्‍लीन रखें. -प्रभावित एरिया पर एंटी फंगल या एंटी बैक्‍टीरियल क्रीम का प्रयोग करें. -प्रभावित एरिया पर एंटी सेप्टिक पाउडर का प्रयोग कर सकते हैं. इसे भी पढ़ें : बिना वजह हो जाता है मूड खराब तो इन 11 फूड्स का करें सेवन, तुरंत करेगा मूड‍ लिफ्ट -स्किन पर हुए इरिटेशन, खुजली, रैश की जलन को कम करने के लिए आप आइस पैक की सेक लगाएं. इससे दर्द, जलन कम होगा. -हल्‍के और कॉटन के कपड़े ही पहनें जो रैश पर चिपके नहीं. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)





#बरश #क #मसम #म #बढ़ #जत #ह #इफकशन #क #चसज़ #इस #तरह #कर #अपन #बचव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *