NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

मिल्खा सिंह PGIMER अस्पताल के ICU में भर्ती, ऑक्सीजन लेवल गिरा

1 min read
Spread the love


मिल्खा सिंह एक बार फिर अस्पताल में भर्ती(PTI File)

महान धावक मिल्खा सिंह (Milkha Singh) ने कोरोना वायरस को तो मात दे दी थी लेकिन एक बार उनकी तबीयत बिगड़ी है और वो आईसीयू में भर्ती हैं

नई दिल्ली. कोरोना वायरस को मात देने के चार दिन बाद एक बार फिर महान धावक मिल्खा सिंह (Milkha Singh) को अस्पताल में भर्ती कराा गया है. ANI की खबर के मुताबिक मिल्खा सिंह का ऑक्सीजन लेवल गिरा है और उन्हें चंडीगढ़ के PGIMER अस्पताल में गुरुवार दोपहर को भर्ती कराया गया. मिल्खा के बेटे और गोल्फर जीव मिल्खा सिंह ने इस खबर की पुष्टि की है. बता दें मिल्खा सिंह मोहाली के अस्पताल में 6 दिन भर्ती रहे थे. इसके बाद उनकी तबीयत में सुधार हुआ था और वो उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. लेकिन गुरुवार को एक बार फिर उनकी तबीयत बिगड़ी है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक जीव मिल्खा सिंह ने अपने पिता के आईसीयू में होने की बात कही है. जीव मिल्खा सिंह ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ‘हां मेरे पिता PGIMER अस्पताल में आज भर्ती हुए हैं.’

कोरोना की चपेट में आ गए थे मिल्खा

मिल्खा सिंह 19 मई को कोरोना वायरस की चपेट में आए थे, जिसके बाद उन्हें 24 मई को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. मिल्खा सिंह की ऑक्सीजन में गिरावट आई थी और उनके शरीर में पानी की कमी हो गई थी. मिल्खा सिंह की पत्नी निर्मल कौर भी कोरोना की चपेट में हैं और वो भी अस्पताल में भर्ती हैं. मिल्खा सिंह की हालत फिलहाल स्थिर बताई जा रही है.Tokyo Olympics : ओलिंपिक में ईको-फ्रेंडली होगा पोडियम, मेडल का पहला लुक आया सामने

फ्लाइंग सिख के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह भारतीय खेल इतिहास के सबसे महान ट्रैक एंड फील्ड एथलीट हैं. मिल्खा सिंह इकलौते एथलीट हैं जिन्होंने एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ की 400 मीटर रेस में गोल्ड मेडल जीता है. मिल्खा ने 1958 और 1962 में हुए एशियन गेम्स में गोल्ड हासिल किया. मिल्खा ने 1956, 1960 और 1964 ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया. खेल में योगदान के लिए मिल्खा सिंह को पद्मश्री अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया है.







#मलख #सह #PGIMER #असपतल #क #ICU #म #भरत #ऑकसजन #लवल #गर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *