NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

विनेश फौगाट ने कारण बताओ नोटिस पर तोड़ी चुप्पी: सिस्टम को लेकर खड़े किए सवाल, खोले कई सारे राज़

1 min read
Spread the love

टोक्यो ओलंपिक में मेडल से चूकने के बाद भारत की स्टार पहलवान विनेश फोगाट काफी निराश हैं। भारत लौटने के बाद उनपर अनुशासनहीनता के आरोप लगे और कारण बताओ नोटिस देते हुए भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) ने उन्हें ‘अस्थाई रूप से निलंबित’ कर दिया है। अब इसको लेकर पहली बार विनेश फौगाट ने खुलकर बात की है और सिस्टम पर सवाल खड़े किए हैं।

‘द इंडियन एक्सप्रेस’ पर लिखे एक लेख में उन्होंने कहा “मुझे ऐसा लगता है कि मैं सपने में सो रही हूं और अभी कुछ शुरू ही नहीं हुआ है। मैं ब्लैंक हो गई हूँ। मुझे नहीं पता कि जीवन में क्या हो रहा है। पिछले एक हफ्ते से मेरे अंदर इतना कुछ चल रहा है। मैंने कुश्ती को अपना सब कुछ दिया है लेकिन अब लगता है इसे छोड़ने का समय आ गया है। लेकिन फिर लगता है अगर मैंने उसे छोड़ दिया तो मैं कमजोर दिखूंगी और यह मेरे लिए एक बड़ी हार होगी।”

फौगाट ने लिखा “अभी, मैं वास्तव में अपने परिवार पर ध्यान देना चाहती हूं। लेकिन बाहर हर कोई मेरे साथ ऐसा व्यवहार कर रहा है जैसे मैं मरी हुई चीज हूं। मैं जानती थी कि भारत में आप जितनी तेजी से उठते हैं, उतनी ही तेजी से गिरते हैं। एक पदक खोया और सब कुछ समाप्त हो गया।”

विनेश फौगाट ने कहा सब मुझे बता रहे हैं कि मैच के दौरान मैंने क्या गलत किया। कोई नहीं पूछता कि वहां गलत क्या हुआ। सब अपनी धारणा बना रहे हैं और कुछ भी कह रहे हैं। आप अपने शब्द मेरे मुंह में क्यों डाल रहे हैं। मैं ऐसा नहीं सोचती।

भारत की स्टार पहलवान ने बताया “मैं अपना वजन कम कर रही थी। जिसके चलते मुझे साल्ट कैप्सूल लेना पड़ता था, मुझे उनकी आदत हो गई है। लेकिन टोक्यो में उनसे मदद नहीं मिली। यहां में अकेली थी। मैं खुद फिजियो थी और खुद पहलवान भी। मुझे शूटिंग टीम से एक फिजियो सौंपा गया था। वह मेरे शरीर को नहीं समझता था। उसमें उनकी कोई गलती नहीं है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *