NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

विवादों वाली करेंसी: क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज WazirX और उसके डायरेक्टर्स को ईडी का नोटिस, जानिए पूरा मामला

1 min read
Spread the love

[ad_1]

नई दिल्ली. दुनियाभर में क्रिप्टोकरेंसी और विवादों का नाता गहराता ही जा रहा है. अब हालिया मामला भारत का है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने देश के सबसे बड़े क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। एक्सचेंज को यह नोटिस 2,790 करोड़ रुपये के लेनदेन में कथित रूप से विदेशी विनिमय प्रबंधन कानून (फेमा) के उल्लंघन के लिए जारी किया गया है।

केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा जांच के बाद जो नोटिस जारी किया गया है उसमें एक्सचेंज के निदेशक निश्चल सेठी और हनुमान महात्रे का भी नाम है।

2790 करोड़ रुपए के लेन-देन के मामले में नोटिस 

ईडी ने कहा कि एक ‘चीनी के स्वामित्व’ वाली गैरकानूनी ऑनलाइन बेटिंग ऐप से संबंधित मनी लांड्रिंग की जांच के दौरान उसे कंपनी के इस लेनदेन की जानकारी मिली। ईडी ने कहा कि यह कारण बताओ नोटिस 2,790.74 करोड़ रुपये के लेनदेन के संदर्भ में है।यह भी पढ़ें- कोरोनाकाल में 28 फीसदी बढ़ा ऑनलाइन साइबर फ्रॉड, देश को 25 हजार करोड़ का नुकसान

अवैध लेन-देन में चीनी नागरिक भी शामिल

प्रवर्तन निदेशालय ने कहा कि जांच में यह तथ्य सामने आया कि चीन के नागरिकों ने भारतीय रुपये की जमा को क्रिप्टोकरेंसी टीथर (यूएसडीटी) में बदलकर 57 करोड़ रुपये की अपराध की कमाई का धनशोधन किया। बाद में इसे बाइनेंस (केमैन आइलैंड में पंजीकृत एक्सचेंज) वॉलेट को स्थानांतरित कर दिया गया।

बाइनेंस ने 2019 में वजीरएक्स का अधिग्रहण किया था। ईडी का आरोप है कि वजीरएक्स ने क्रिप्टोकरेंसी के जरिये व्यापक लेनदेन की अनुमति दी।

यह भी पढ़ें- IPO Market : Shyam Metalics के शेयर आईपीओ से पहले ही ग्रे मार्केट में 43 फीसदी चढ़े, जानिए विस्तार से

वजीरएक्स ने धन शोधन रोधक कानून और आतंकवाद के वित्तपोषण का प्रतिरोध (सीएफटी) और साथ में फेमा दिशानिर्देशों का उल्लंघन करते हुए जरूरी दस्तावेजों को जुटाए बिना इनकी अनुमति दी।

मनी लॉन्ड्रिंग का बड़ा मामला

ईडी ने कहा, “यह पाया गया कि WazirX के ग्राहक बिना किसी सही दस्तावेज के किसी भी व्यक्ति को उसके स्थान और राष्ट्रीयता के बावजूद कीमती क्रिप्टोकरेंसी को ट्रांसफर कर सकते हैं, जिससे ये मनी लॉन्ड्रिंग या दूसरे नाजायज गतिविधियों की तलाश करने वाले यूजर्स के लिए एक सुरक्षित ठिकाना बन जाता है।”

इस एक्सचेंज वजीरएक्स की स्थापना दिसंबर, 2017 में कंपनी जन्माई लैब्स प्राइवेट लि. के तहत हुई थी। इसे घरेलू क्रिप्टोकरेंसी स्टार्टअप के रूप में स्थापित किया गया था।

[ad_2]

#ववद #वल #करस #करपटकरस #एकसचज #WazirX #और #उसक #डयरकटरस #क #ईड #क #नटस #जनए #पर #ममल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *