December 6, 2021

NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

AK-203 rifle received by Indian Army blew Pak-China’s senses, भारत को मिली इस ताकत ने उड़ा दिए पाक-चीन के होश, जानें AK-203 की खासियत

1 min read
Spread the love

रक्षा विशेषज्ञों की मानें तो किसी भी देश की सैन्य ताकत इस बात पर निर्भर करती है कि उसके सैनिकों के पास कौन सी श्रखंला की Assault Rifle है. क्योंकि युद्ध की स्थिति में थल सेना के पास दुश्मनों का मुकाबला करने के लिए पहला हथियार रायफल ही होती है

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 25 Nov 2021, 03:57:44 PM

AK-203

AK-203 (Photo Credit: सांकेतिक तस्वीर)

नई दिल्ली:

पूरी दुनिया में अपनी सैन्य ताकत का लोहा मनवा रहे भारत के तरकश में अब एक और बड़ा हथियार जुड़ गया है. भारत के ​पुराने और भरोसेमंद मित्र रूस से मिले इस हथियार की खबर ने चीन और पाकिस्तान के होश उड़ा दिए हैं. दरअसल, यहां हम बात कर रहे हैं AK-203 Assault Rifles की. एक ओर जहां भारत चीन और पाकिस्तान के साथ विवाद में उलझा है, वहीं रक्षा मंत्रालय ने बड़ा फैसला लेते हुए (Russia) के साथ 6 लाख 71 हजार AK-203 Assault Rifles की डील को मंज़ूरी दे दी है. हालांकि इस डील को लेकर दोनों देशों के बीच लंबे समय से बातचीत चल रही थी, लेकिन अब इस पर अंतिम मुहर लग गई है. 

दरअसल, पूरी दुनिया में भारत की ताकत बढ़ाने वाली इस रायफल डील के दो बड़े महत्व हैं. सबसे पहले तो यह डील ऐसे समय हुई है, जब भारत का चीन के साथ सीमा पर गतिरोध चल रहा है. ऐसे में रूस के साथ यह डील अपने आप में एक बड़ा महत्व रखती है. दूसरा रूस के साथ सैन्य डील कर भारत अमेरिका की धमकियों को भी दरकिनार कर दिया है. आपको बता दें कि रूस से इस माह से भारत को S-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डिलिवरी भी करनी शुरू कर दी है. सैन्य क्षेत्र में इस मिसाइल सिस्टम का तोड़ बड़े—बड़े देशों के पास भी नहीं है. माना जा रहा है कि भारत इन मिसाइल डिफेंस सिस्टम को पाक सीमा के करीब सेट कर सकता है. हालांकि अमेरिका ने रूस के साथ हुई इस डील का विरोध किया था लेकिन भारत ने इसकी कोई परवाह नहीं की. आशंका है कि अमेरिका इसके लिए भारत पर कुछ प्रतिबंध भी लगा सकता है.  

रक्षा विशेषज्ञों की मानें तो किसी भी देश की सैन्य ताकत इस बात पर निर्भर करती है कि उसके सैनिकों के पास कौन सी श्रखंला की Assault Rifle है. क्योंकि युद्ध की स्थिति में थल सेना के पास दुश्मनों का मुकाबला करने के लिए पहला हथियार रायफल ही होती है. अगर पहला हथियार ही शक्तिशाली हो तो दुश्मन के दांत खट्टा होने में समय नहीं लगता. 

जानें रायफल की खासियत- 

  • यह रायफल AK-203, इंसास के मुकाबले काफी हल्की है.
  • इंसास का वजन मैगजीन के बिना 4.15 किलोग्राम है
  • वहीं AK-203 का बिना मैगजीन के वजन 3.8 किलोग्राम है
  • इस रायफल के आ जाने से जवानों का बोझ हल्का होगा
  • इंसास रायफल की लम्बाई 960 मिलीमीटर है.
  • AK-203 रायफल की लम्बाई 705 मिलीमीटर है
  • इंसास की मारक क्षमता 400 मीटर है जबकि AK-203 की रेंज 800 मीटर है.
  • इंसास एक मिनट में 650 गोलियां दाग सकती है, AK-203 से एक मिनट में 600 गोलियां निकाली जा सकती है



संबंधित लेख

First Published : 25 Nov 2021, 03:57:44 PM


For all the Latest
India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.



[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *