NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

अक्षय कुमार ने लॉन्च किया Desi गेम FAU-G, PUBG से कितना अलग है ये गेम?

1 min read
Akshay Kumar launches Desi game FAU-G, how different is this game from PUBG?
Spread the love

न्ई दिल्ली/डेस्क। PUBG बैन होने के करीबन 4 महीने, 24 दिन बाद देसी गेम फीयरलेस एंड यूनाइटेड गॉर्ड्स यानी FAU-G 26 जनवरी को लॉन्च हो गया। लॉन्च होने के पहले ही इस गेम के लिए 50 लाख से ज्यादा रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। फिलहाल ये गेम एंड्रॉयड यूजर्स के लिए ही है। कंपनी जल्द ही इसे iOS यूजर्स के लिए भी लॉन्च करेगी।

अब सवाल ये है कि FAU-G क्या है? किस कंपनी ने इसे तैयार किया है? गलवान घाटी की हिंसा और अक्षय कुमार का इस गेम से क्या कनेक्शन है? किस मोबाइल वर्जन में इस गेम को इंस्टॉल किया जा सकता है? जानते हैं इसके बारें में

FAU-G क्या है?

FAU-G एक एक्शन मोबाइल गेम है। इस गेम को बेंगलुरु की एक कंपनी nCore Games ने तैयार किया है। कंपनी का दावा है कि ये गेम पूरी तरह से भारतीय सेना को समर्पित है। फिलहाल इस गेम को स्टोरी मोड की तर्ज पर तैयार किया गया है। आगे इसे और अपडेट किया जाएगा। कंपनी के फाउंडर दयानिधि एमजी और COO गणेश हंडे हैं। कंपनी के एडवाइजर और इनवेस्टर विशाल गोंडल हैं। विशाल गोंडल के मुताबिक, गेम का फर्स्ट फेज गलवान घाटी पर आधारित है। आगे भी भारतीय सेना की युद्धों की पृष्ठभूमि पर इसे अपडेट किया जाएगा।

इसे किस प्रकार डाउनलोड कर सकते हैं?

ये गेम अभी गूगल प्ले स्टोर पर है। यहां से आप इस गेम को डाउनलोड कर सकते हैं। FAU-G की ऑफिशियल वेबसाइट से भी इस गेम की APK फाइल को डाउनलोड किया जा सकता है। फिलहाल इस गेम का फर्स्ट वर्जन ही आया है। जो हाई-एंड और मिड रेंज के एंड्रॉयड स्मार्टफोन को सपोर्ट करता है। जल्दी ही कंपनी कम बजट के मोबाइल फोन यूजर्स के लिए इस गेम का लाइट वर्जन लॉन्च करेगी। iOS यूजर्स को अभी इस गेम के लिए इंतजार करना होगा।

अभी तक कितने मोबाइल यूजर्स तक पहुंच चुका है FAU-G?

24 जनवरी को कंपनी की तरफ एक ट्वीट किया गया। इसमें कंपनी ने गेम के प्री-रजिस्ट्रेशन को लेकर लिंक शेयर की थी। इसमें बताया गया था कि OS8 या इससे भी अपडेटेड एंड्रॉयड वर्जन के लिए प्री-रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुके हैं। इसके बाद गेम के लिए 50 लाख से ज्यादा रजिस्ट्रेशन हुए और प्री-लॉन्चिंग के लिए 10 लाख रजिस्ट्रेशन हुए।

24 जनवरी का ट्वीट..

इसके बाद 72वें गणतंत्र दिवस पर कंपनी ने ट्वीट कर गेम लॉन्च की जानकारी दी। इसके साथ डाउनलोड लिंक भी दी गई। अब तक इस गेम को गूगल प्लेस्टोर पर 4.0 स्टार मिले हैं। गेम को अब तक 10 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है।

क्या यह पूरी तरह से भारतीय गेम है?

हां। ये गेम पूरी तरह से देसी है। इसे बेंगलुरू स्थित भारतीय कंपनी STUDIO nCORE Pvt. Ltd. ने तैयार किया है। गेम का साइज अभी 460MB है। इसे 16 साल या उससे ज्यादा उम्र के लोगों के लिए तैयार किया गया है।

इस गेम की क्या खासियत है?

गेम की खासियत के बारे में कंपनी ने लिखा है- भारत के उत्तरी-पूर्वी बॉर्डर की ऊंची चोटी पर एक फाइटिंग ग्रुप देश के गौरव और संप्रभुता की रक्षा करता है। ये एक चुनौतीपूर्ण काम है। ये निडर और एक साथ रहने वाले गॉर्ड्स हैं।

इस गेम में FAU-G कमांडो देश की सबसे खतरनाक सीमा पर गश्त करते हैं। ये भारत के दुश्मनों से लड़ते हैं। इसमें अपना अस्तित्व बचाकर दुश्मन के खिलाफ लड़ने की बात कही गई है। साथ ही कहा गया है कि गेम खेलकर देश की सीमाओं में तैनात देश की सेना के बलिदान और जज्बे का अनुभव करें। ये गेम भारतीय सैनिकों के जज्बे, सेवा भाव और बलिदान को समर्पित है। ये रियल वर्ल्ड के घटनाक्रमों पर आधारित है।

FAU-G का रेवेन्यू जनरेट करने का मॉडल क्या है?

टेक एक्सपर्ट अरशद शेख कहते हैं कि FAU-G गेम से रेवन्यू जनरेट करने तरीका अलग है। कंपनी ने गेम में Pop-Up एडवरटाइसमेंट का कॉन्स्पेट नहीं रखा है। यानी गेम के दौरान आपके मोबाइल पर एड नहीं दिखाई देंगे। डेवलपर्स ने i-apps को इसके लिए चुना है। इसके जरिए यूजर्स को वेपन और प्लेयर्स चुनने का ऑपशन दिया जाएगा। इन्हें सिल्वर टोकन, प्रीमियम टोकन के जरिए स्टोर से खरीदा जा सकता है। इसके अलावा एड देखकर भी 5 टोकन बोनस मिलेगा। इन टोकन की कीमत अलग-अलग है। इसमें 19 रुपए में 30 टोकन मिलेंगे, 2,999 रुपए में 4,800 टोकन मिलेंगे।

क्या PUBG का विकल्प है FAU-G गेम?

हां। दरअसल, पिछले साल 15-16 जून की रात भारत-चीन सीमा पर स्थित गलवान घाटी पर दोनों देशों की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई थी। इसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया। दोनों देशों के रिश्तों में तल्खी आने के बाद 2 सितंबर को मोदी सरकार ने PUBG को बैन कर दिया। उसी समय से इस तरह के गेम को लाने की बात हो रही थी। इस नए गेम को PUBG का विकल्प माना जा रहा है। हालांकि, दोनों गेम्स में थोड़ा अंतर है। PUBG एक बैटल रॉयल गेम है और FAU-G एक्शन गेम है।

FAU-G और PUBG में क्या अंतर है?

दोनों के गेमिंग मोड अलग हैं। PUBG में बैटल रॉयल गेम मोड है। इसे टीम के साथ मिलकर और अकेले भी खेल सकते हैं। वहीं, FAU-G में सिंगल प्लेयर मोड है। इसमें एक तय स्टोरी के तहत मिशन पूरा करना होता है। FAU-G गेम को बनाने वाली कंपनी का कहना है कि भविष्य में गेम को बैटल रॉयल मोड और ऑनलाइन मल्टीप्लेयर मोड पर अपडेट किया जाएगा।

इन दोनों में कॉम्बेट स्टाइल भी अलग है। FAU-G में हाथापाई वाली लड़ाई और कुछ हथियार की मदद से दुश्मन का सामना करने के ऑप्शन हैं। तो वहीं PUBG एक शूटिंग गेम है।

PUBG में फिक्शनल (काल्पनिक) लोकेशन है। तो FAU-G में गलवान वैली की लोकेशन है, जो रियल लोकेशन है। FAU-G एक स्टोरी लाइन पर तैयार किया गया गेम है, वहीं PUBG की कोई स्टोरी लाइन नहीं है।

क्या PUBG को टक्कर दे पाएगा देसी FAU-G?

फिलहाल इस सवाल का जवाब देना थोड़ा मुश्किल है। इस गेम की तुलना PUBG से करना जल्दबाजी होगी। आंकड़ों को देखें तो PUBG के 60 करोड़ से ज्यादा डाउनलोड थे। इनमें 5 करोड़ एक्टिव यूजर्स थे, जिनमें भारत के यूजर्स की संख्या लाखों में थी। PUBG का बिजनेस 9,371 करोड़ था और लाइफटाइम कलेक्शन 22.45 करोड़ था।

सितंबर में बैन होने के पहले ये सबसे ज्यादा डाउनलोड होने वाला गेम था। ये आंकड़ा भी 17.5 करोड़ था। वहीं, FAU-G को अभी सिर्फ एंड्रॉयड यूजर्स डाउनलोड कर सकते हैं। इस गेम का क्रेज कितना चढ़ता है, ये आने वाला वक्त तय करेगा।

अक्षय कुमार का क्या रिश्ता है गेम से?

पिछले साल 2 सिंतबर को सरकार ने चीन से तनाव के चलते PUBG समेत 118 चाइनीज ऐप्स को बैन कर दिया था। इसके दो दिन बाद बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार ने 4 सितंबर को FAU-G लाने का ऐलान किया। तब उन्होंने कहा था कि ये गेम देश के बलिदान हो चुके सेना के जवानों की जानकारी देगा। अक्षय कुमार का ये पहला गेमिंग वेंचर है।

अक्षय कुमार ने तब सोशल मीडिया पर बताया था कि ये गेम प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर मूवमेंट को सपोर्ट करता है। इस मोबाइल गेम से जनरेट होने वाले रेवेन्यू का 20% हिस्सा भारत के वीर ट्रस्ट को देंगे। 26 जनवरी को अक्षय ने गेम का ट्रेलर शेयर करते हुए लॉन्चिंग की जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *