NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

Delhi police statement on terrorists arrest in delhi attack plan before Navaratri and RamLeela नवरात्रि और रामलीला आयोजनों में बम धमाकों की थी साजिश, गिरफ्तार 6 आतंकियों ने पूछताछ में बताया

1 min read
Spread the love
नवरात्रि और रामलीला आयोजनों में बम धमाकों की थी साजिश, गिरफ्तार 6 आतंकियों ने पूछताछ में बताया- India TV Hindi
Image Source : ANI
नवरात्रि और रामलीला आयोजनों में बम धमाकों की थी साजिश, गिरफ्तार 6 आतंकियों ने पूछताछ में बताया

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को आतंक के खिलाफ मुहिम में बड़ी सफलता मिली है। दिल्ली पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें से दो ने पाकिस्तान में आतंक की ट्रेनिंग ली है। दिल्ली पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस संबंध में जानकारी दी है। दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के स्पेशल कमिश्नर नीरज ठाकुर ने बताया, “एक मल्टी स्टेट ऑपरेशन में हमनें 6 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें 2 व्यक्ति ऐसे हैं जो पाकिस्तान में इसी साल जाकर ट्रेंड होकर आए हैं। केंद्रीय एजेंसी से हमें एक इनपुट मिला था कि भारत के प्रमुख शहरों में कुछ आतंकी घटनाएं करने का षड्यंत्र रचा जा रहा है, जो बॉर्डर के उस पार से हैं, मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने एक टीम का गठन किया।”

स्पेशल कमिश्नर नीरज ठाकुर ने कहा, “जांच में पता चला कि यह कई राज्यों में फैला हुआ बड़ा नेटवर्क है और आज सुबह इस ऑपरेशन को खत्म करते हुए कई राज्यों में रेड की। सबसे पहले महाराष्ट्र के रहने वाले समीर नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार किया है, जिसे कोटा में ट्रेन से पकड़ा है। उसके बाद 2 व्यक्ति दिल्ली में गिरफ्तार हुए, उनसे पूछताछ के बाद हमने यूपी एटीएस के साथ मिलकर 3 लोगों को गिरफ्तार किया।” उन्होंने कहा, “इनमें 2 लोग ऐसे हैं, जो अप्रैल में भारत से मस्कट गए थे, हवाई जहाज के जरिए। वहां से शिप के जरिए इन्हें पाकिस्तान ले जाया गया और ग्वादर पोर्ट के पास फॉर्महाउस में रखा गया। वहीं पर इनको हथियार चलाने, विस्फोटक बनाने की ट्रेनिंग 15 दिन तक दी गई।”

नीरज ठाकुर ने बताया, “ट्रेनिंग के बाद जब ये लोग वापस आए तो ये लोग अपने कामों में एक स्लीपर सेल की तरह जुट गए।” उन्होंने कहा, “जांच में पता चला है कि इन लोगों को सीमापार से संचालित किया जा रहा था। पता चला है कि 2 टीमें बनाई गई थी, एक टीम को दाऊद इब्राहिम का भाई अनीस इब्राहिम संचालित कर रहा था, इस टीम का काम था कि जो वहां से हथियार और विस्फोटक आएंगे उनको ठीक तरह से बॉर्डर पार कराकर भारत के अलग-अलग शहरों में सुरक्षित रखना, साजिश को अंजाम देने के लिए। दूसरी टीम का काम फंडिंग की व्यवस्था करना था।”

उन्होंने बताया, “जो समीर नाम के व्यक्ति को पकड़ा है और यूपी में लाला नाम के व्यक्ति को पकड़ा है, वह अंडरवर्ल्ड वाली टीम के साथ थे। जो दूसरा कंपोनेंट है, इसमें जो दो आदमी, जो पाकिस्तान में ट्रेंड हैं और एक और आदमी था उनके साथ, इनका काम था कि भारत के अलग-अलग शहरों में ऐसी जगह ढूंढना, जहां आने वाले त्योहारी सीजन में बम ब्लास्ट किए जा सकें। नवरात्रि और रामलीला को टारगेट किए जाने की साजिश थी। कुल 6 लोग गिरफ्तार हुए हैं। हथियार, विस्फोटक बरामद हुए हैं इनसे।”

ठाकुर ने बताया, “पाकिस्तान में मिली ट्रेनिंग के बारे में इन लोगों ने काफी जानकारी दी है और उसके बारे में केंद्रीय एजेंसी को भी बताया जाएगा। ओसामा और जीशान ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग ली थी, दोनों भारतीय हैं।” गिरफ्तार आतंकियों में महाराष्ट्र का रहने वाला 47 वर्षीय जान मोहम्मद शेख, दिल्ली के जामिया नगर का रहने वाला 22 वर्षीय ओसामा, उत्तर प्रदेश के रायबरेली का रहने वाला 47 वर्षीय मूलचंद उर्फ लाला, उत्तर प्रदेश के प्रयागराज का रहने 28 साल का जीशान कमर, उत्तर प्रदेश के बहराइच का रहने वाला 23 वर्षीय मोहम्मद अबू बकर और उत्तर प्रदेश के लखनऊ का रहने वाला 31 वर्षीय मोहम्मद आमिर जावेद शामिल है।



[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *