NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

DHFL मामले में पिरामल ग्रुप के रिजॉल्यूशन प्लान को लागू करने के लिए बनी मॉनिटरिंग कमेटी

1 min read
Spread the love


दिवालिया हो चुकी है दीवान हाउसिंग फाइनेंस कंपनी

सात सदस्यीय मॉनिटरिंग कमेटी में CoC की ओर से नामांकित तीन प्रतिनिधि, कंपनी का टेकओवर करने वाले सफल बिडर की ओर से नामांकित दो प्रतिनिधि, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की ओर से नियुक्त एडमिनिस्ट्रेटर और कोर्ट की ओर से नियुक्त किए गए एक ऑब्जर्वर शामिल होंगे.

नई दिल्ली. नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल यानी एनसीएलटी (NCLT) ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (DHFL) के लिए पिरामल ग्रुप के रिजॉल्यूशन प्लान को लागू किए जाने तक कंपनी के मैनेजमेंट और कंट्रोल के लिए एक मॉनिटरिंग कमेटी बनाई है. कोर्ट ने क्रेडिटर्स की कमेटी (CoC) से दो सप्ताह के अंदर रिजॉल्यूशन फंड्स के डिस्ट्रीब्यूशन पर विचार करने को भी कहा है. एनसीएलटी ने कहा है कि कोर्ट के रिजॉल्यूशन प्लान को अप्रूव करने की तिथि (6 जून) से लागू करने की तिथि के बीच की अवधि में डीएचएफएल का मैनेजमेंट और कंट्रोल मॉनिटरिंग कमेटी के पास रहेगा. सात सदस्यीय मॉनिटरिंग कमेटी में CoC की ओर से नामांकित तीन प्रतिनिधि, कंपनी का टेकओवर करने वाले सफल बिडर की ओर से नामांकित दो प्रतिनिधि, आरबीआई की ओर से नियुक्त एडमिनिस्ट्रेटर और कोर्ट की ओर से नियुक्त किए गए एक ऑब्जर्वर शामिल होंगे. कोर्ट ने इनकम टैक्स के रिटायर्ड कमिश्नर और सेबी के पूर्व एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर अशोर काकर को ऑब्जर्वर बनाया है.

रिजॉल्यूशन फंड्स का डिस्ट्रीब्यूशन

एनसीएलटी ने CoC को विभिन्न क्रेडिटर्स के बीच रिजॉल्यूशन फंड के डिस्ट्रीब्यूशन पर दोबारा विचार करने का सुझाव दिया है. एनसीएलटी का मानना है कि स्मॉल इनवेस्टर्स को अधिक राशि दी जानी चाहिए. इसने ऑर्डर की तिथि से दो सप्ताह के अंदर एनसीएलटी को इस बारे में जानकारी देने के लिए कहा है. इसके अलावा एनसीएलटी ने कहा है कि सहमति नहीं रखने वाले फाइनेंशियल क्रेडिटर्स (आईसीआईसीआई बैंक, एफडी होल्डर्स और डिबेंचर होल्डर्स) को डेट सिक्योरिटीज नहीं, बल्कि एकमुश्त कैश भुगतान किया जाना चाहिए.पिरामल ग्रुप के रिजॉल्यूशन प्लान में कुल ऑफर 37,250 करोड़ रुपये का है. इसमें क्रेडिटर्स को 12,700 करोड़ रुपये का एकमुश्त नकद भुगतान शामिल है.

इधर BSE और NSE ने DHFL के स्टॉक्स की ट्रेडिंग हमेशा के लिए बंद कीभारतीय शेयर बाजारों बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने कर्ज में डूबी और दिवालिया हो चुकी दीवान हाउसिंग फाइनेंस कंपनी के स्टॉक्स की ट्रेडिंग अपने प्लेटफॉर्म पर बंद करने का ऐलान किया है. 14 जून 2021 से अब बीएसई और एनएसई पर डीएचएफएल के शेयर की खरीद-बिक्री नहीं हो सकेगी. बीएसई और एनएसई द्वारा कंपनी के शेयर की ट्रेडिंग बंद करने से उन लाखों इक्विटी शेयरहोल्डर्स का पैसा डूब जाएगा, जिन्होंने डीएचएफएल में अपना निवेश अब तक बरकरार रखा था. बीएसई और एनएसई ने अपने सर्कुलर में कहा कि डीएचएफएल ने स्टॉक एक्सचेंज को 8 जून को बताया कि एनसीएलटी मुंबई ने उसके रेजोल्यूशन प्लान को मंजूर कर लिया है जिससे कंपनी के इक्विटी स्टॉक मार्केट से डीलिस्ट हो जाएंगे.







#DHFL #ममल #म #परमल #गरप #क #रजलयशन #पलन #क #लग #करन #क #लए #बन #मनटरग #कमट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *