August 5, 2021

NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

International Yoga Day 2021: योग निद्रा का करें अभ्यास, ऊर्जा से भरे रहेंगे, तनाव होगा गायब

1 min read
Spread the love


International Yoga Day 2021 Try Yog Nidra: अंतरराष्ट्रीय योग दिवस हर साल 21 जून को मनाया जाता है. इस साल कोरोना वायरस महामारी के चलते अंतरराष्ट्रीय योग दिवस ऑनलाइन ही मनाया जाएगा. योग तन मन को स्वस्थ रखने में सहायक है. इसलिए स्वामी विवेकानंद ने भी योग की महिमा बताते हुए इसे आयु की वृद्धि करने वाला माना जाता है. कोरोना काल (Covid Time) में लोग भयंकर मानसिक दबाव, तनाव और डिप्रेशन से जूझ रहे हैं. यहां तक कि रिकवरी के बाद भी लोगों में बेचैनी और तनाव जैसी कई समस्याएं सामने आ रही हैं. ऐसे में योग निद्रा ( Yog Nidra) इस समस्या का हल करने में काफी सहायक हो सकती है. योग निद्रा काफी प्राचीन पद्धति है. इसके जरिए मन-मस्तिष्क शांत होता है और आप अपने अंतर्मन में चल रही उहापोह को समझ पाते है और उसपर नियंत्रण हासिल कर पाते हैं. आइए जानते हैं निद्रा योग के अभ्यास का सही तरीका और योग निद्रा के लाभ…

योग निद्रा करने का तरीका:

-योगनिद्रा का अभ्यास खुली जगह पर करें. अगर आप इसे किसी बंद कमरे में करते हैं तो याद रहे कि कमरे के दरवाजे, खिड़की खुले रहें. जमीन पर दरी बिछाकर उस पर एक कंबल बिछाएं. अब ढीले कपड़े पहनकर शवासन में लेट जाएं.

-दोनों पैर लगभग एक फुट की दूरी पर हों, हथेली कमर से छह इंच दूरी पर रखें और आंखें बंद कर लें. बॉडी को ढीला छोड़ें. सांस लें और छोड़ें. याद रखें कि शरीर को हिलाना नहीं है.

यह भी पढ़ें:  International Yoga Day 2021: महिलाओं के लिए बेहद ख़ास हैं ये योगासन, पीरियड्स के दर्द से दिलाएंगे निज़ात

– मन में चलने वाले विचारों को शांत करें. अब आंखें बंद रखते हुए ही ध्यान दाएं पैर और पंजे की तरफ लेकर जाएं और थोड़ी देर तक यहीं फोकस करें. इसके बाद दाएं घुटने और जांघों पर ध्यान केन्द्रित करें. यही तरीका बाईं तरफ भी अपनाएं.

– इसके बाद प्राइवेट पार्ट, पेट, नाभि, चेस्ट, हाथ, हाथों की उंगलियों और चेहरे तक ध्यान ले जाएं. इसके बाद सांस छोड़ें और सांस भरें. इस दौरान महसूस करें कि अपनी किसी पसंदीदा शांत जगह जैसे कि शांत पहाड़ और शांत बीच के किनारे हैं.

– अपने शरीर से ध्यान पर आसपास के वातावरण जैसे- हवा की सरसराहट, चिड़ियों और कोयल की आवाज, पेड़ों के हिलने की आवाज पर ध्यान लगाएं. दाएं करवट लेटें और बाईं नाक के छिद्र से सांस छोड़ें. 5 से 10 मिनट बाद धीरे -धीरे आंखें खोलें.  (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)



#International #Yoga #Day #यग #नदर #क #कर #अभयस #ऊरज #स #भर #रहग #तनव #हग #गयब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *