September 22, 2021

NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

Maharashtra BJP leader Kripashankar Singh target Sanjay Raut Jaunpur Pattern statement Sakinaka Rape-Murder Case । संजय राउत के ‘जौनपुर पैटर्न’ वाले बयान पर BJP ने जताई नाराजगी, कही ये बात

1 min read
Spread the love
Sakinaka Rape-Murder Case: संजय राउत के 'जौनपुर पैटर्न' वाले बयान पर BJP ने  जताई नाराजगी, कही ये बा- India TV Hindi
Image Source : PTI FILE PHOTO
Sakinaka Rape-Murder Case: संजय राउत के ‘जौनपुर पैटर्न’ वाले बयान पर BJP ने  जताई नाराजगी, कही ये बात 

नई दिल्ली/मुंबई। संजय राऊत के ‘जौनपुर पैटर्न’ वाले विवादित बयान पर भाजपा ने कड़ी आपत्ति जताई है। महाराष्ट्र भाजपा के उपाध्यक्ष एवं पूर्व गृह मंत्री कृपाशंकर सिंह ने शिवसेना राज्यसभा सदस्य संजय राऊत के ‘जौनपुर पैटर्न’ वाले विवादित बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा, ‘राऊत को ओछी राजनीति करने बाज आना चाहिए।’ कृपाशंकर सिंह ने कहा कि संजय राऊत सांसद हैं और उन्हें कानून की जानकारी भी है। इसके बावजूद उनके द्वारा बलात्कार एवं हत्या जैसी घोर निंदनीय घटना को किसी जिले का पैटर्न करार देना बेहद निंदनीय है। 

महाराष्ट्र भाजपा के उपाध्यक्ष कृपाशंकर सिंह ने कहा, मुंबई निर्भया कांड के अभियुक्त को कड़ी से कड़ी यानी फांसी से कम की सजा नहीं होनी चाहिए। ऐसी घिनौनी घटना को अंजाम देने वाले दरिंदे की न कोई जाति होती है और न ही कोई प्रांत होता है। दरिंदा दरिंदा होता है, इसलिए उसे किसी जिले के पैटर्न का नाम देना गलत है।

कृपाशंकर ने संजय राऊत को बताया क्या है जौनपुर पैटर्न 

कृपाशंकर सिंह ने कहा कि फिर भी यदि कोई ‘जौनपुर पैटर्न’ के बारे में जानना चाहता है तो उसे पता होना चाहिए कि देश की आजादी की लड़ाई के वक्त एक गांव से 21 लोगों ने अपनी कुर्बानी दी थी। आजादी की जंग में खुद को कुर्बान करने वाले जौनपुर जिले में ऐसे कई गांव हैं। जौनपुर जिले के एक गांव से 40 आईएएस अफसर बने हैं और हर गांव से आईएएस-आईपीएस अफसर बनाना असल में यह ‘जौनपुर पैटर्न’ है। 

महाराष्ट्र सरकार ने पीड़िता के परिजनों को 20 लाख रुपये का मुआवज़ा देने की घोषणा की

बता दें कि, महाराष्ट्र के साकीनाका में हुए बलात्कार के मामले को शिवसेना के मुखपत्र सामना में जौनपुर पैटर्न का नाम दिया गया है। मुंबई साकीनाका बलात्कार और हत्या मामले में महाराष्ट्र सरकार ने पीड़िता के परिजनों को 20 लाख रुपये का मुआवज़ा देने की घोषणा की। साकीनाका रेप मामले पर मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले ने कहा कि इस पर हमने एससी-एसटी एट्रोसिटी एक्ट लगाया है। हमने आरोपी मोहन को गिरफ्तार कर लिया था। उसकी 21 तारीख तक पुलिस कस्टडी भी मिल गई है। उसने अपना गुनाह कबूल किया है। जो हथियार इस्तेमाल किया गया था वह भी बरामद कर लिया गया है। एक महीने में चार्जशीट चली जाएगी। अगले 15-20 दिन में हमारी जांच हो जाएगी। जो सैंपल्स लैब में जाएंगे उसमें थोड़ा समय लग सकता है। पीड़ित महिला के परिवार के लिए शासकीय योजनाओं और CM राहत फंड मिलाकर कुल 20 लाख का मुआवजा प्रोसेस किया जाएगा और अलग-अलग स्टेज में दिया जाएगा। 



[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *