August 1, 2021

NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

petrol price in rajasthan: गहलोत सरकार ने 2% वैट घटाया, राजस्थान में पेट्रोल 1.70 और डीजल 1.60 सस्ता

1 min read
petrol price in rajasthan: Gehlot government slashed 2% VAT, petrol in Rajasthan 1.70 and diesel 1.60 cheaper
Spread the love

  राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार  ने गुरुवार रात 12 बजे से पेट्रोल -डीजल पर लगने वाले वैट (vat on diesel and petrol) की दर में 2 प्रतिशत की कमी की है । हालांकि अभी  भी पड़ोसी राज्यों की तुलना में राजस्थान (petrol price in rajasthan) में पेट्रोल 8 रुपये महंगा है।

जयपुर/न्यूज नाउ। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी के बीच राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने प्रदेश में वैट में 2 प्रतिशत की कमी करते हुए प्रदेशवासियों को बड़ी राहत दी है। राज्य में पेट्रोल एवं डीजल पर लगने वाले वैट की दर में 2 प्रतिशत की कमी करने के बाद अब प्रदेश में पेट्रोल 1.70 और डीजल 1.60 सस्ता हो गया है। हालांकि अब भी पड़ोसी राज्यों की तुलना में राजस्थान में पेट्रोल 8 रुपये महंगा है। इस संबंध में वित्त विभाग ने आदेश जारी होने के बाद 28 जनवरी रात 12 बजे से नई दरें लागू हो गई हैं।

Covid-19 महामारी के कारण आर्थिक गतिविधियों के प्रभावित होने तथा राजस्व में आई कमी के बावजूद मुख्यमंत्री ने आमजन के हित में यह महत्वपूर्ण निर्णय किया है। इससे आमजन के साथ-साथ ट्रांसपोर्ट, इंफ्रास्ट्रक्चर, रियल एस्टेट एवं अन्य व्यवसाय को भी काफी राहत मिलेगी। वैट की दरों में कमी से राज्य सरकार को प्रतिवर्ष राजस्व में अनुमानतः एक हजार करोड़ रुपए की कमी आएगी।


केन्द्र सरकार ले रही पेट्रोल और डीजल पर   एक्साइज ड्यूटी
गहलोत सरकार ने कहा है कि अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर क्रूड ऑयल के दाम लंबे समय तक न्यूनतम स्तर पर होने के बावजूद पेट्रोल-डीजल के दाम उच्चतम स्तर पर होने से महंगाई बढ़ रही है और आमजन को आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि भारत सरकार द्वारा वर्तमान में पेट्रोल पर 32 रुपये 98 पैसे प्रति लीटर तथा डीजल पर 31 रुपये 83 पैसे प्रति लीटर उत्पाद शुल्क लिया जा रहा है, जो अत्यधिक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार द्वारा बेसिक एक्साइज ड्यूटी राज्यों को दिये जाने वाले डिविजिएबल पूल का हिस्सा होती है। जिसे लगातार कम करते हुये पेट्रोल पर 9.48 रुपये से 2.98 रुपये तथा डीजल पर 11.33 रुपये से 4.83 रुपये किया जा चुका है। जिससे राजस्थान सहित सभी राज्यों को राजस्व की भारी हानि हो रही है।



गहलोत सरका कहा- केन्द्र भी दे राहत

गहलोत ने कहा कि भारत सरकार द्वारा एडिशनल एक्साईज ड्यूटी को लगातार बढ़ाते हुये पेट्रोल एवं डीजल पर 8 रुपये से 18 रुपये प्रति लीटर तथा स्पेशल एक्साईज ड्यूटी को बढ़ाकर पेट्रोल पर 7 रुपये से 12 रुपये एवं डीजल पर शून्य से बढ़ाकर 9 रुपये प्रति लीटर किया जा चुका है। भारत सरकार की इस नीति के कारण राज्यों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। साथ ही आमजन को महंगे पेट्रोल-डीजल की मार झेलनी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने जो पहल की है, केन्द्र सरकार भी उसका अनुसरण करते हुये पेट्रोल एवं डीजल पर केन्द्रीय करों में कमी कर लोगों को राहत दे।

 62 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *