Latest News

September 21, 2021

NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

PM Modi narrated the story of Aligarh Muslim meharban| जब पीएम मोदी ने सुनाया अलीगढ़ के ‘मुस्लिम मेहरबान’ का किस्सा

1 min read
Spread the love
जब पीएम मोदी ने सुनाया अलीगढ़ के 'मुस्लिम मेहरबान' का किस्सा- India TV Hindi
Image Source : TWITTER @BJP4INDIA
जब पीएम मोदी ने सुनाया अलीगढ़ के ‘मुस्लिम मेहरबान’ का किस्सा

अलीगढ़: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी और डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर का उद्घाटन करते हुए कहा कि कलतक जो अलीगढ़ ताले के जरिए घरों और दुकानों की रक्षा करता था वही अलीगढ़ अब 21वीं सदी में हिंदुस्तान की सीमाओं की रक्षा करेगा, यहां ऐसे आयुध बनेंगे। उन्होंने कहा कि अलीगढ़ के तालों और उससे जुड़े अपने संस्मरण को भी सुनाया।

पीएम मोदी ने कहा कि अभी तक लोग अपने घर की या अपनी दुकान की सुरक्षा के लिए अलीगढ़ के भरोसे रहते थे, क्योंकि अलीगढ़ का ताला अगर लगा होता था तो लोग निश्चिंत हो जाते थे। उन्होंने कहा-‘ करीब 55-60 साल पुरानी बात है, हम बच्चे थे, तो अलीगढ़ से ये ताले के जो सेल्समैन होते थे, एक मुस्लिम मेहरबान थे जो हर 3 महीने में हमारे गांव आते थे, वो काली जैकेट पहनते थे तथा सेल्समैन के नाते दुकानों में अपना ताला रखकर जाते थे और 3 महीनों में अपने पैसे लेकर जाते थे।’

पीएम मोदी ने अपने पिताजी से उनकी मित्रता का जिक्र करते हुए कहा-‘मेरे पिता जी से उनकी अच्छी दोस्ती थी, वो आते थे तो 4-6 दिन हमारे गांव में रुकते थे और दिनभर जो पैसे वो वसूलकर लाते थे तो मेरे पिता जी के पास छोड़ते थे, मेरे पिता जी उन पैसों को संभालते थे, जब गांव छोड़कर जाते तो मेरे पिताजी से सारे पैसे लेकर अपने गांव चले जाते थे।’

पीएम मोदी ने सीतापुर का भी जिक्र किया


पीएम मोदी ने अपने संस्मरण में अलीगढ़ के अलावा सीतापुर का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा-‘मेरे गांव में बचपन में यूपी के 2 शहर बड़े परिचित रहे एक सीतापुर और दूसरा अलीगढ़। गांव में अगर किसी को आंख की बीमारी का उपचार कराना होता था तो लोग सीतापुर जाने के लिए कहते थे और दूसरा तालों के लिए अलीगढ़ का नाम लेते थे।’



[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *