Latest News

September 21, 2021

NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

Rakesh Tikait on why he raised ‘Allahu Akbar’ slogans at Kisan Mahapanchayat – अल्लाह हू अकबर क्यों कहा? रोज 400 लोग फोन करके पूछ रहे हैं यही सवाल: राकेश टिकैत

1 min read
Spread the love
Rakesh Tikait on why he raised 'Allahu Akbar' slogans at Kisan Mahapanchayat- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV
उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में किसान नेता राकेश टिकैत ने अल्लाह हू अकबर के नारे लगाए थे।

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में हुई किसान महापंचायत में किसान नेता राकेश टिकैत ने अल्लाह हू अकबर के नारे लगाए थे जिसके बाद से उनके पास रोजाना फोन आ रहे हैं। इंडिया टीवी से बात करते हुए राकेश टिकैत सवाल किया कि क्या अल्लाह हू अकबर कहना या हर हर महादेव कहना देश में प्रतिबंधित हैं? उन्होंने बताया कि पिछले 4-5 दिन से लोग फोन कर उन्हें गाली दे रहे हैं।

इंडिया टीवी से बात करते हुए राकेश टिकैत ने कहा, “अल्लाह हू अकबर कहना या हर हर महादेव कहना क्या देश में प्रतिबंधित हैं। जो लोग हमारे बयान कि क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल कर रहे हैं, उन्होंने हमारे फोन नंबर सोशल मीडिया पर डाल रखे हैं और बोल रखा है कि नंबर राकेश टिकैत का है और उसको यही शब्द कहो। पिछले 4-5 दिन से वे लोग गाली देते हैं हमको।”

उन्होंने आगे कहा, “फोन पर वे लोग गाली देते हैं और कहते हैं कि आपने अल्लाह हू अकबर क्यों कहा हर हर महादेव क्यों कहा। देश में जब टिकैत साबह थे उस समय भी यह नारे लगते थे। अगर हमने ऊपर से हर हर महादेव कहा तो सामने वाली भीड़ अल्लाह हू अकबर कहती थी और हमने अल्लाह हू अकबर कहा तो भीड़ हर हर महादेव कहती थी।”

इस बीच पुलिस लाठीचार्ज के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसानों की राज्‍य सरकार के साथ बातचीत फिर विफल हो गई है। इन किसानों का कहना है कि राज्‍य सरकार के साथ उनकी बातचीत लगातार दूसरे दिन बेनतीजा रही है और वे करनाल में लंबा प्रदर्शन कर सकते हैं।

राकेश टिकैत ने कहा, “हम सिंघु और टिकरी बॉर्डर की तरह यहां स्‍थायी तौर पर प्रदर्शन कर सकते हैं।”  टिकैत ने बताया कि हमारी आज प्रशासन के साथ 3 घंटे मीटिंग हुई। सरकार SDM आयुष सिन्हा पर कोई भी कार्रवाई करने के लिए तैयार नहीं है, ऐसे में हमने तय किया है कि हमारा धरना प्रदर्शन जारी रहेगा, हमारा धरना स्थल यही रहेगा। हम चाहते हैं कि अधिकारी के ख़िलाफ़ कार्रवाई हो।

ये भी पढ़ें



[

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed