September 26, 2021

NEWS NOW

ALL NEWS Just ON ONE CLICK

UPSC: Rishita Gupta of Delhi secured AIR 18 in her first attempt in UPSC 2018. Read her motivational journey – UPSC: कभी डॉक्टर का सपना देखने वाली रिशिता ऐसे बनीं IAS, परीक्षा के लिए देती हैं यह सलाह

1 min read
Spread the love

UPSC: हम जीवन में अपने लिए अलग सपने देखते हैं लेकिन कभी-कभी हमारी जिंदगी दूसरा पड़ाव ले लेती है। कुछ लोगों के लिए यह रास्ता उन्हें एक बेहतर मंजिल की ओर ले जाता है। ऐसी ही एक कहानी है रिशिता गुप्ता की जिन्होंने सपना तो डॉक्टर बनने का देखा था लेकिन हालात ने ऐसी पलटी मारी कि आखिरकार वह एक आईएएस अधिकारी बनीं।

रिशिता गुप्ता दिल्ली की रहने वाली हैं। उनके घर पर हमेशा से ही पढ़ाई को लेकर अच्छा माहौल रहा है इसलिए रिशिता भी पढ़ने में काफी अच्छी थीं। उन्होंने कक्षा 12वीं की पढ़ाई साइंस स्ट्रीम से की है। स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद रिशिता मेडिकल से आगे की पढ़ाई करके डॉक्टर बनना चाहती थीं लेकिन किस्मत उन्हें दूसरी राह पर ले गई। बता दें कि जब रिशिता 12वीं मे थीं तो उसी साल बीमारी के कारण उनके पिता का निधन हो गया। इस घटना से उन पर काफी प्रभाव पड़ा और नतीजतन वह मेडिकल फील्ड में एडमिशन के लिए पर्याप्त अंक नहीं प्राप्त कर पाईं। उनका डॉक्टर बनने का सपना अधूरा ही रह गया। हालांकि, इस बात से हताश होने की जगह रिशिता ने कक्षा 12वीं के बाद इंग्लिश लिटरेचर से बैचलर्स की डिग्री पूरी की।

रिशिता ने साल 2015 में तय कर लिया था कि वह यूपीएससी में अपना करियर बनाएंगी और पहले प्रयास में ही देश की सबसे कठिन परीक्षा क्रैक करेंगी। आखिरकार रिशिता के दृढ़ निश्चय और कठिन परिश्रम ने अपना असर दिखा ही दिया। उन्होंने साल 2018 में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के पहले अटेम्प्ट में ही 18वीं रैंक के साथ टॉप किया और अपनी कही हुई बात को सच साबित कर दिखाया।

UPSC: यूपीएससी परीक्षा के लिए छोड़ दी थी नौकरी, श्रेयांश कुमत ने पहले ही अटेम्प्ट में किया टॉप

यूपीएससी परीक्षा क्लियर करने के लिए रिशिता ने एड़ी चोटी एक कर दी थी। उन्होंने परीक्षा की तैयारी के लिए एनसीईआरटी से लेकर कोचिंग और ऑनलाइन रिसोर्सेस का भरपूर प्रयोग किया। उन्होंने सबसे पहले अपना बेस तैयार किया फिर नोट्स बनाएं और कई मॉक टेस्ट भी दिए। हालांकि, उन्होंने किताबें सीमित रखीं लेकिन उनका बार बार रिवीजन किया। साथ ही रिशिता ने ‌मेन्स परीक्षा के लिए लिखने की काफी प्रेक्टिस की थी। इन सब मेहनत का परिणाम उन्हें परीक्षा के दौरान मिला।

रिशिता का कहना है कि यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों को रिजल्ट की जगह केवल अपनी तैयारी पर फोकस करना चाहिए। इसके अलावा करंट अफेयर्स के लिए नियमित रूप से अखबार और मंथली मैगज़ीन पढ़नी चाहिए। बता दें कि रिश्ता का ऑप्शनल सब्जेक्ट पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन था। उन्होंने यूपीएससी की लिखित परीक्षा में 879 अंक और इंटरव्यू में 180 अंक प्राप्त किए थे।





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *